370 का पक्षधर नेशनल कांफ्रेंस पहुंचा सुप्रीम कोर्ट...
रिपोर्ट---रज़िया बानो खान 

 


कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाये जाने के कयास मात्र से तिलमिलाई नेशनल कांफ्रेंस पार्टी ने इसके हटने के बाद एक बार फिर अपना अड़ियल रुख स्पष्ट कर दिया है।जहाँ एक हो सारा देश सरकार के इस फैसले से प्रफ्फुलित है वही दूसरी तरफ नेशनल कांफ्रेंस पार्टी को 370 का हटना किसी सदमे से कम नही लग रहा है पाकिस्तान के साथ साथ उसको भी यही लगता है कि ऐसा नही होना चाहिए था जो हुआ है वो पूरी तरह से असंवैधानिक है।अपनी इसी मांग को लेकर उसने अब देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल की है।

 



 

आपको बता दें कि नेशनल कॉफ्रेंस ने जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा हटाने के संबंध में अनुच्छेद 370 पर राष्ट्रपति के आदेश के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का रुख किया है। नेशनल कॉफ्रेंस ने न्यायालय से अनुरोध किया है कि वह जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम 2019 को असंवैधानिक घोषित करने के संबंध में निर्देश जारी करे। उच्चतम न्यायालय में यह याचिका पार्टी के नेता मोहम्मद अकबर लोन और हसनैन मसूदी ने दायर की है।

 


 

ये सारी प्रक्रिया जो हुई है ये पूरे देश ने देखी है कि इसमें असंवैधानिक कुछ भी नही था गृह मंत्री ने संविधान में इसको लेकर लिखी हुई बात को बारीकी से पढ़ा और सभी को समझाने के बाद दोनों सदन से इसको पास भी कराया उसके बाद राष्ट्रपति जी ने इसपर हस्ताक्षर कर अपनी मंजूरी भी दी अब इसमें किसी बात की कोई ऐसी गुंजाइश हमे तो नज़र नही आती के नेशनल कांफ़्रेस को सुप्रीम कोर्ट से कोई उनके मतलब का जवाब मिलेगा लेकिन फिर भी नेशनल कांफ्रेंस का पाकिस्तानी प्रेम उसे अपना दिमाग चलाने को मजबूर करता नजर आ रहा है क्योंकि पार्टी ये जानती है कि अब काश्मीर से उनकी साख और वर्चस्व समाप्त होने की कगार पर है।

 


Popular posts