ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में बीती रात चली गोली युवक की मौत...

रिपोर्ट--- दीपक ठाकुर 


 


 

ठाकुरगंज के कैम्पवेल रोड पर आजादनगर में 32 वर्षीय एचसीएल कम्पनी के सॉफ्टवेयर इंजीनियर शरद निगम की गोली मारकर हत्या कर दी गई।बाइक सवार बेख़ौफ़ कातिलों ने घर के पास उस वक़्त वारदात को दिया जब शरद ऑफिस से अपने घर आ रहा था।

 


 

दिल दहला देने वाली वारदात को अंजाम देकर आरोपी ऐसे फरार हुए जैसे उनको पुलिस का कोई ख़ौफ़ ही ना हो।यहाँ एक बात ये भी समझ मे नही आती के वैसे तो हर गली चौराहे पर पुलिस चेकिंग लगा कर बैठी रहती है लेकिन जब ऐसे दुस्साहसिक वारदात को अंजाम देने की योजना बनाई जाती है तब पुलिस आखिर किस काम मे व्यस्त हो जाती है जो वो घटना के बाद मौकाए वारदात पर पहुंचकर जांच के आदेश दे जाती है।

 



 

इस घटना में भी बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर मौजूद हुआ था और पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस भिजवा दिया गया था इस मामले की संजीदगी देखते हुए एसएसपी जी भी वहां पहुंचे थे।एसएसपी कलानिधि नैथानी ने मामले का जल्द खुलासा करने का निर्देश दे दिया है एसएसपी के निर्देश पर क्राइम ब्रांच व पुलिस की कई टीमें आरोपियों की धर-पकड़ में भी लग गई है लेकिन सवाल वही है कि योगी सराकर में अपराध पर नियंत्रण लगाने में क्यों बेबस है पुलिस प्रशासन।


Popular posts